भारत की 15वीं जनगणना (2011) : महत्वपूर्ण तथ्य/ नोट्स एवं जानकारी

0
9468
भारत की 15वीं जनगणना (2011) : महत्वपूर्ण तथ्य/ नोट्स एवं जानकारी
भारत की 15वीं जनगणना (2011) : महत्वपूर्ण तथ्य/ नोट्स एवं जानकारी

भारत की  जनगणना 2011 – महत्वपूर्ण तथ्य एवं जानकारी

भारत की 15वीं जनगणना (2011). Important Notes on Census of India 2011. Important Facts & Notes on Census of India 2011. Download PDF on Census of India. Notes on Census of India for RRB NTPC 2019. जैसा कि हम सभी एसएससी, रेलवे, बैंकिंग, एफसीआई, सीडब्ल्यूसी, इंश्योरेंस एक्जाम, यूपीएससी और अन्य राज्य पीसीएस परीक्षा जैसे कई प्रतियोगी परीक्षाओं में जानते हैं, भारत की  जनगणना 2011 (15वीं)  क्वेश्चन बार-बार पूछे जाते हैं, इसलिए आप सामान्य जागरूकता के सेक्शन में भारत की  जनगणना 2011 की अनदेखी नहीं कर सकते।

RRB NTPC General Science & General Awareness Book 2019

चूंकि प्रश्न पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों पर आधारित होते हैं, इसलिए संभावना है कि अभ्यर्थी सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में भारत की  जनगणना से कई प्रश्न पाएंगे।

भारत की  जनगणना (Census of India)

भारत की जनगणना एकमात्र ऐसा जरिया है जिससे भारत के लोगों के बारे में विभिन्‍न जानकारियां एकत्र की जाती हैं। जनगणना, आर्थिक गतिविधि, साक्षरता और शिक्षा, आवास और घरेलू सुख सुविधाओं, शहरीकरण, जन्‍म दर और मृत्‍यु दर, अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों, भाषा,धर्म, पलायन, विकलांगता और अनेक अन्‍य सामाजिक-सांस्‍कृतिक और जनगणना संबंधी आंकड़ों के बारे में सांख्यिकीय जानकारी जुटाने का सबसे विश्‍वसनीय स्‍त्रोत है। पिछले 130 साल से अधिक समय से चल रही इस कवायद के हर 10 साल में सटीक नतीजे सामने आते हैं। भारत के विभिन्न भागों में 1872 में पहली जनगणना हुई । हाल में देश में 15 वीं राष्ट्रीय जनगणना 2011 संपन्न हुई। आजादी के बाद यह सातवीं जनगणना थी।

अवश्य पढ़िए : एसबीआई पीओ (SBI PO) 2019 की तैयारी कैसे करें – महत्वपूर्ण टिप्स और ट्रिक्स : जानिये आसान भाषा में

भारतीय जनगणना, जनसांख्यिकी (जनसंख्या विशेषताओं), आर्थिक गतिविधि, साक्षरता और शिक्षा, आवास और घरेलू सुविधाओं, शहरीकरण, प्रजनन और मृत्यु दर, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति, भाषा, धर्म, प्रवास पर 1872 के बाद से जानकारी का सबसे विश्वसनीय स्रोत रहा है बाधा, और कई अन्य सामाजिक-सांस्कृतिक और जनसांख्यिकीय डेटा।

भारत की  जनगणना : महत्वपूर्ण तथ्य/ नोट्स एवं जानकारी

  • भारत की जनगणना का विषय संघ सूची में आता है। भारतीय संविधान की धारा 246 के अनुसार जनगणना का कार्य संघ सरकार द्वारा किया जायेगा।
  • भारत में पहली बार आंशिक जनगणना तात्कालीन गवर्नर लार्ड मेयो के काल में 1872 में हुई थी।
  • 1881 में पहली बार लार्ड रिपिन दॄारा नियमित प्राधिकृत रूप से जनगणना करवाई गई।
  • भारत के पहले जनगणना आयुक्त हेनरी प्लाउडेन थे।
  • भारत में जनगणना का कार्य गृह मंत्रालय के आधीन महापंजीयक या जनगणना आयुक्त के निर्देश अनुसार होता है।
  • भारत में 1911 – 1921 के दशक में जन्म वृद्धि दर न्यूनतम रही थी, यह वर्ष ‘महविभाजक वर्ष ‘ ( Great Divide Year ) कहलाता है।
  • वर्ष 1951 में जन्म वृद्धि दर अधिकतम रही थी इस वर्ष को ‘लघु विभाजक वर्ष’ ( Micro Divide Year ) कहा जाता है।
  • आजाद भारत की पहली जनगणना 1951 में करायी गई थी, इसमें 14 सवाल शामिल थे।
  • वर्ष 2001 की जनगणना भारत की पहली पूर्ण कम्प्यूटरीकृत जनगणना थी।
  • वर्ष 2011 में करायी गई जनगणना भारत की 15 वी जनगणना है तथा आजादी के बाद की 7 वी जनगणना है।
  • जनगणना 2011 में कुल 29 सवाल शामिल थे।
  • वर्ष 2011 की जनगणना के जनगणना आयुक्त सी चन्द्रमौली थे।
  • जनगणना 2011 का प्रथम चरण अप्रैल 2010 से सितंबर 2010 तक चला एवं द्वितीय चरण की अवधि 9 फरवरी से 5 मार्च 2011 थी।
  • इस कार्य में 27 लाख कर्मचारियों को लगाया गया था, उनके द्वारा देश के 640 जिलों के 7938 शहरों व41 लाख गांवों में जनगणना का कार्य किया गया।
  • भारत में विश्व की5% जनसंख्या निवास करती है जबकि भारत विश्व के केवल 2.4% भू-भाग पर विस्तृत है
  • भारत की जनसंख्या अमेरिका, इंडोनेशिया, ब्राजील, पाकिस्तान, बांग्लादेश एवं जापान की कुल जनसंख्या के बराबर है।
  • नागालैंड ऐसा एकमात्र राज्य है जहां जनसंख्या में कमी आई है।
  • भारत 2050 तक विश्व की सर्वाधिक जनसंख्या वाला देश बन जाएगा।

अवश्य पढ़िए : SBI क्लर्क 2019 की तैयारी कैसे करें – महत्वपूर्ण टिप्स और ट्रिक्स : जानिये आसान भाषा में

भारत की  जनगणना 2011 : महत्वपूर्ण तथ्य/ नोट्स एवं जानकारी

  • 2011 की जनगणना में देश की 15 वीं राष्ट्रीय जनगणना है और आजादी के बाद यह सातवीं जनगणना थी। यह केंद्र और राज्य सरकारों के लिए योजना बनाने के लिए बहुमूल्य जानकारी और तैयार करने की नीतियों प्रदान करता है और व्यापक रूप से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों, विद्वानों, व्यापार के लोगों, उद्योगपतियों, और कई और अधिक द्वारा किया जाता है। जनगणना, पिछले एक दशक में देश की प्रगति की समीक्षा सरकार की चल रही योजनाओं की निगरानी, और सबसे महत्वपूर्ण, भविष्य के लिए योजना बनाने के लिए आधार है।
  • वर्ष 2011 की जनगणना 31 मार्च, 2011 को केंद्रीय गृह सचिव और भारतीय आर.जी.आई द्वारा जारी की गई थी।
  • जनगणना 2011 भारत की 15वीं जनगणना और स्‍वतंत्रता के बाद 7वीं जनगणना थी।
  • जनगणना 2011 का आदर्श वाक्‍य ‘हमारी जनगणना, हमारा भविष्‍य’ था।
  • रजिस्‍ट्रार जनरल और जनगणना आयुक्‍त, जिनके तहत जनगणना 2011 आयोजित की गई थी- सी. चंद्रा मौली
  • वर्तमान रजिस्‍ट्रार जनरल और जनगणना आयुक्‍त– श्री शैलेश
  • कुल जनसंख्‍या- 1,210,569,573 (1.21 बिलियन)
  • 64% की दशक वृद्धि के साथ भारत जनसंख्‍या में दूसरे स्‍थान पर है।
  • 2001-2011 के दौरान जनसंख्‍या में वृद्धि 181 मिलियन है।
  • जनगणना 2011 दो चरणों में आयोजित की गई थी:
  • हाउसलिस्‍टिंग और हाउसिंग जनगणना (अप्रैल से सितम्‍बर, 2010)
  • जनसंख्‍या गणना (9 से 28 फरवरी, 2011)
  • जनगणना 2011 में प्रशासनिक इकाइयों की संख्‍या
  • राज्य / संघ शासित प्रदेश 35
  • जिले 640
  • उप-जिले 5,924
  • कस्‍बे 7,936
  • गांव41 लाख
  • महाराष्ट्र का ठाणे जिला भारत का सबसे अधिक आबादी वाला जिला है।
  • अरुणाचल प्रदेश की दीबांग घाटी निम्‍नतम आबादी वाला जिला है।
  • अरुणाचल प्रदेश के कुरुंग कुमी ने01 प्रतिशत की उच्चतम जनसंख्या वृद्धि दर दर्ज की है।
  • नागालैंड के लांगलेंग जिले ने (-) 58.39 प्रतिशत की नकारात्मक जनसंख्या वृद्धि दर दर्ज की है।
  • पुडुचेरी के माहे जिले में सबसे ज्यादा लिंग अनुपात 1176 महिलायें प्रति 1000 पुरुष है।
  • दमन जिले में सबसे कम लिंग अनुपात 533 महिलायें प्रति 1000 पुरुष है।
  • मिजोरम के सर्चिप जिले की साक्षरता दर सबसे अधिक76 प्रतिशत है।
  • 22 प्रतिशत के आंकड़े के साथ मध्य प्रदेश का अलीराजपुर भारत का निम्‍नतम साक्षर जिला है।
  • 37,346 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर के आंकड़े के साथ उत्तर-पूर्वी दिल्ली सबसे ज्यादा घनत्व वाला है।
  • दिबांग घाटी में प्रति व्यक्ति घनत्‍व सबसे कम एक व्यक्ति प्रति वर्ग कि.मी है।
  • महाराष्‍ट्र का मुंबई शहर सबसे अधिक आबादी वाला शहर है।
  • पंजाब का कपूरथला शहर कम आबादी वाला शहर है।
  • भारत की कुल जनसंख्या – 121.5 करोड़
  • विश्व की कुल जनसंख्या में भारत का प्रतिशत – 17.5 %
  • दशकीय जन्म वृद्धि दर – 18.14 करोड़ ( 17.7% )
  • भारत में पुरुषों की जनसंख्या – 62.31 करोड़
  • महिलाओं की जनसंख्या – 58.47 करोड़
  • सर्वाधिक जनसंख्या वाले राज्य – उत्तर प्रदेश – 19.98 करोड़ ,महाराष्ट्र  – 11.23 करोड़, बिहार  – 10.40 करोड़, प.बंगाल, आन्ध्र प्रदेश
  • न्यूनतम जनसंख्या वाले राज्य – सिक्किम
  • सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला – थाणे ( महा. )
  • न्यूनतम जनसंख्या वाला जिला – दिवांग घाटी ( अरुणाचल प्रदेश )
  • 37346 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर के आंकड़े के साथ उत्तर-पूर्वी दिल्ली सबसे ज्यादा घनत्व वाला जिला है।
  • भारत का क्षेत्रफल पूरी दुनिया के क्षेत्रफल का4 फीसदी है लेकिन विश्व की कुल आबादी की तुलना में 17.5 फीसदी लोग भारत में रहते हैं. पिछली जनगणना में ये आंकड़ा 16.8 प्रतिशत था.
  • भारत की मौजूदा आबादी 1 अरब 21 करोड़ है.
  • 2001 से 2011 में भारत की जनसंख्या6 प्रतिशत की दर से 18 करोड़ बढ़ी है.
  • ये वर्ष 1991-2001 की वृद्धि दर, 21.5 प्रतिशत, से करीब 4 प्रतिशत कम है.
  • भारत और चीन की आबादी का अंतर दस साल में घटकर 23 करोड़ 80 लाख से 13 करोड़ 10 लाख रह गया है.
  • जनसंख्या के आधार पर उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य है जहां देश की कुल जनसंख्या के 16 प्रतिशत लोग रहते हैं.
  • सभी राज्यों की आबादी बढ़ी है. सिर्फ नगालैंड ने ऋणात्मक विकास दर्ज किया है.
  • 1911 के दशक के बाद से ये पहला मौका है जब पिछले दशक के मुकाबले में 2011 की जनसंख्या में सबसे कम लोग जुड़े हैं.
  • कुल आबादी में बच्चो का प्रतिशत गिरा है, यानि देश में उर्वरता कम हुई है.
  • देश का कुल लिंगानुपात 1971 से अबतक के सबसे ऊंचे स्तर 940 पर पहुंच गया है.
  • ये साल 2001 से 7 प्वाइंट का इज़ाफा है.
  • बच्चों का लिंगानुपात घटा है, ये स्वतंत्र भारत के सबसे निचले स्तर पर है.
  • पंजाब और हरियाणा में पिछले दशक में लिंगानुपात बढ़ा है लेकिन ये अब भी पूरे देश में सबसे कम है.
  • हरियाणा के झज्झर ज़िले में ये 774 है.
  • भारत में साक्षरता की दर 10 प्रतिशत बढ़कर करीब 74 प्रतिशत हो गई है.
  • पिछले दस सालों में पुरुषों के मुकाबले करीब 24 लाख महिलाएं ज़्यादा साक्षर हुई हैं.
  • बिहार और अरुणाचल प्रदेश में राज्यों में सबसे कम साक्षरता है.
  • कुल आबादी के मुताबिक उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य है.
  • राजधानी दिल्ली में प्रति वर्ग किलोमीटर सबसे ज़्यादा, 11 हज़ार लोग रहते हैं.
  • केरल के कोझीकोड़ में प्रति 1000 पुरुषों में 1093 महिलाओं का अधिकतम लिंग अनुपात है।
  • महाराष्ट्र के भिवंडी शहर में सबसे कम लिंग अनुपात 709 महिला प्रति 1000 पुरुष है।
  • मिजोरम के आइजोल शहर में साक्षरता दर सबसे ज्यादा76 प्रतिशत है।
  • 48 प्रतिशत के साथ यू.पी का संभल शहर भारत का सबसे कम साक्षर शहर है।

अवश्य पढ़िए : SSC MTS Previous Year Question Papers in Hindi – Download PDF (2013-2017)

भारत की  जनगणना 2011 : जनसंख्या घनत्व

  • भारत की जनसंख्या घनत्व – 382/ व्यक्ति वर्ग किमी
  • सर्वाधिक घनत्व वाले राज्य – बिहार – 1106 / वर्ग किमी, प. बंगाल – 1028/ वर्ग किमी, केरल  – 860/ वर्ग किमी
  • न्यूनतम घनत्व वाले राज्य – अरुणाचल प्रदेश – 17/ व्यक्ति वर्ग किमी
  • सर्वाधिक घनत्व वाला जिला – उत्तर पूर्व दिल्ली
  • न्यूनतम घनत्व वाला जिला – दिवांग घाटी ( अरुणाचल प्रदेश )

भारत की  जनगणना 2011 : लिंगानुपात

  • भारत में लिंगानुपात – 940 महिला / 1000 पुरुष
  • सर्वाधिक लिंगानुपात वाले राज्य – केरल – 1084, तमिलनाडु – 996, आन्ध्र प्रदेश – 993, मणिपुर – 992, छत्तीसगढ़ – 991
  • न्यूनतम लिंगानुपात वाले राज्य – हरियाणा – 878
  • सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला – माहे ( पुद्दुचेरी ) 1176
  • न्यूनतम लिंगानुपात वाला जिला – दमन – 533

भारत की  जनगणना 2011 : साक्षरता

  • भारत की साक्षरता दर – 74.0 %
  • पुरुष साक्षरता दर –  1 %
  • महिला साक्षरता दर – 65.5 %
  • सर्वाधिक साक्षरता दर वाले राज्य – केरल – 93.9%, मिजोरम – 91.6 %
  • सर्वाधिक पुरष साक्षरता दर वाले राज्य – लक्क्षद्विप – 1 % , केरल – 96.0 %, मिजोरम – 93.7 %
  • सर्वाधिक महिला साक्षरता दर वाले राज्य – केरल0 %, मिजोरम – 89.4 %
  • न्यूनतम साक्षरता दर वाले राज्य – बिहार- 63.8%, अरुणाचल प्रदेश -67%. राजस्थान – 67.1%, झारखंड
  • न्यूनतम पुरुष साक्षरता दर वाले राज्य – बिहार – 73.4%, अरुणाचल प्रदेश – 73.7%, आंध्रप्रदेश – 75.6%
  • न्यूनतम महिला साक्षरता दर वाले राज्य – राजस्थान – 52.7%, बिहार – 53.3%, झारखंड – 56.2%
  • सर्वाधिक साक्षरता दर वाला जिला – सरचिप ( मिजोरम )
  • न्यूनतम साक्षरता दर वाला जिला – अलीराजपुर ( म.प्र. )

भारत की  जनगणना 2011 : केंद्र शासित पदेश

  • सर्वाधिक जनसँख्या वाला केंद्रशासित राज्य – दिल्ली – 1.67 करोड़
  • न्यूनतम जनसँख्या वाला केंद्रशासित राज्य – लक्क्षद्विप – 47 हजार
  • न्यूनतम जनसंख्या घनत्त्व वाला राज्य – अण्डमान – 46/ वर्ग किमी
  • सर्वाधिक साक्षरता वाला केंद शासित राज्य – लक्क्षद्विप – 92.28 %
  • न्यूनतम साक्षरता वाला केंद्रशासित राज्य – दादर एवं नागर हवेली – 77.65
विशेषताएं भारत शीर्ष तीन राज्य अंतिम तीन राज्य महत्वपूर्ण तथ्य एवं जानकारी
औसत वार्षिक वृद्धि दर 1.64 % 1. मेघालय (2.49 %)
2. अरुणाचल प्रदेश (2.3 %)
3. बिहार (2.26 %)
1. गोवा (.79%)
2. आंध्र प्रदेश (1.07%)
3. सिक्‍किम (1.17%)
2001-2011 के दौरान देश की लगभग 85% आबादी के हिस्से के साथ 25 राज्यों / संघ शासित प्रदेशों में 2% से कम की वार्षिक वृद्धि दर दर्ज की गई।
दशक वृद्धि दर 17.60% 4. मेघालय (27.8 %)
5. अरुणाचल प्रदेश (25.9 %)
6. बिहार (25.1 %)
1. नागालैंड ( -0.5 %)
2. केरल (4.9 %)
3. गोवा (8.2 %)
· नागालैंड एक मात्र ऐसा राज्‍य है जिसकी विकास दर नकारात्‍मक है।
· 2001-2011 पहला दशक है (1911-1921 के अपवाद के साथ) जिसमें वास्तव में पिछले दशक की तुलना में कम जनसंख्या वृद्धि हुई।
· सबसे अधिक और सबसे निम्नतम दशक विकास दर वाले जिले क्रमशः कुरुंगकुमे और लांगलेंग थे।
जनसंख्‍या घनत्‍व 382 1. बिहार (1,106 प्रति वर्ग कि.मी)
2. पश्‍चिम बंगाल (1030 प्रति वर्ग कि.मी)
3. केरल ( 859 प्रति वर्ग कि.मी)
1. अरुणाचल प्रदेश (17 प्रति वर्ग कि.मी)
2. मिजोरम (52 प्रति वर्ग कि.मी
3. जम्‍मू और कश्‍मीर (56 प्रति वर्ग कि.मी)
· शीर्ष दो जिले: उत्‍तर- पूर्वी (दिल्‍ली एन.सी.टी) और चेन्‍नई
· अन्‍तिम दो जिले: दिबांग घाटी और साम्‍बा।
जनसंख्‍या (संख्‍या के आधार पर) कुल- 1210.19 मिलियन
पुरुष – 623.7 मिलियन (51.54%)
महिला – 586.46 मिलियन (48.46%)
ग्रामीण जनसंख्‍या– 833 मिलियन
शहरी जनसंख्‍या-377 मिलियन
कुल
1. उत्‍तर प्रदेश (19.9 मिलियन , 16.5% )
2. महाराष्‍ट्र (11 मिलियन – 9.28%)
3. बिहार (10 मिलियन – 8.6%)
पुरुष
1. यू.पी.
2. महाराष्‍ट्र
3. बिहार
महिला
1. यू.पी.
2. महाराष्‍ट्र
3. बिहार
ग्रामीण जनसंख्‍या
1. यूपी
2. बिहार
3. पश्‍चिम बंगाल
शहरी जनसंख्‍या
1. महाराष्‍ट्र
2. यू.पी.
3. तमिलनाडु
कुल
1. सिक्‍किम (6.07 लाख – 0.05%)
2. मिजोरम (10.9 लाख – 0.09 %)
3. अरुणाचल प्रदेश (13.8 लाख- 0.11%)
पुरुष
1. सिक्‍किम
2. मिजोरम
3. अरुणाचल प्रदेश
महिला
1. सिक्‍किम
2. मिजोरम
3. अरुणाचल प्रदेश
ग्रामीण जनसंख्‍या
1. मिजोरम
2. सिक्‍किम
3. गोवा
शहरी जनसंख्‍या
1. सिक्‍किम
2. अरुणाचल प्रदेश
3. नागालैंड
· शीर्ष मेट्रो
1. मुम्‍बई (18,394,912)
2. दिल्‍ली
3. चेन्‍नई
· भारत की आबादी यू.एस.ए, इंडोनेशिया, ब्राजील, पाकिस्तान, बांग्लादेश और जापान की संयुक्त आबादी (1214.3 मिलियन) के बराबर है।
· शीर्ष दो जिले: थाणे
(महाराष्‍ट्र) और उत्‍तर 24 परगना (पश्‍चिम बंगाल)
· अन्‍तिम दो जिले : दिबांग घाटी (अरुणाचल प्रदेश) और एनजॉ (अरुणाचल प्रदेश)
लिंग अनुपात 940 1. केरल (1084)
2. तमिलनाडु (996)
3. आंध्र प्रदेश (993)
1. हरियाणा (879)
2. जम्‍मू और कश्‍मीर (889)
3. सिक्‍किम (890)
· 1971 से की गई जनगणना का ये अब तक का सबसे उच्‍चतम लिंग अनुपात है।
· शीर्ष दो जिले : माहे और अल्‍मोड़ा
· अन्‍तिम दो जिले :
दमन और लेह
जनन दर (2013) 2.3 1. बिहार (3.4)
2. यूपी (3.17)
3. मेघालय (3.1)
1. सिक्‍किम (1.45)
2. पश्‍चिम बंगाल (1.6
4)
3. तमिलनाडु (1.7)
साक्षरता दर कुल -74%
पुरुष –82.14%
महिला -65.46
कुल
1. केरल (93.9%)
2. मिजोरम (91.6%)
3. त्रिपुरा (87.8%)
पुरुष
1 केरल (96 %)
2. मिजोरम (93.7%)
3. गोवा (92.8%)
महिला
1. केरल (92%)
2. मिजोरम (89.4%)
3. त्रिपुरा (83.1%)
कुल
1. बिहार (63.80%)
2. अरुणाचल प्रदेश (67%)
3. राजस्‍थान (67.11%)
पुरुष
1. बिहार (73.5%)
2. अरुणाचल प्रदेश (73.7 %)
3. आंध्र प्रदेश(75.6 %)
महिला
1. राजस्‍थान (52.7%)
2. बिहार (53.3%)
3. जम्‍मू और कश्‍मीर (58%)
· धर्म के आधार पर उच्‍चतम साक्षरता दर – जैन (94%) > ईसाई (80%) > बौद्ध (74%)
· क्षेत्र – ग्रामीण (68.9%)
· शहरी ( 85%)
· 9.21 प्रतिशत अंक वृद्धि के साथ 2001 में 64.83 प्रतिशत से 2011 में साक्षरता दर 74.04 प्रतिशत दर्ज की गई।
· दस राज्‍य और केंद्र शासित प्रदेश अर्थात् केरल, लक्ष्‍यद्वीप आदि
· 47
· मिजोरम, त्रिपुरा, गोवा, दमन और दीव, पुडुचेरी, चंडीगढ़, दिल्ली एन.सी.टी और अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह ने साक्षरता दर 85 प्रतिशत से ऊपर हासिल की है।
· 2001 की जनगणना में पुरुष और महिला साक्षरता दर के बीच दर्ज 21.59 प्रतिशत अंकों का अंतर 2011 में कम होकर 16.68 प्रतिशत हो गया है।
· शीर्ष दो जिले : सर्चिप और आईजोल
· अन्‍तिम दो जिले: अलीराजपुर और बीजापुर
कार्य भागीदारी दर · कुल (39%)
· पुरुष (45%)
· महिला (14%)
1. मिजोरम 1. केरल
2. गोवा
जनजाति · 550 जनजाति
· भारत की कुल आबादी का 8.2%
· 10 मिलियन जनसंख्‍या
जनसंख्‍या के अनुसार
1. एम.पी (1.5 मिलियन)
2. महाराष्‍ट्र (1.0 मिलियन)
3. गुजरात (.89 मिलियन)
जनजाति घनत्‍व के अनुसार
1. मिजोरम
2. नागालैंड
3. मेघालय
जनसंख्‍या के अनुसार
1. पंजाब (शून्‍य)
2. हरियाणा (शून्‍य)
3. गोवा (32,000)
जनजाति घनत्‍व के अनुसार
1. पंजाब (शून्‍य)
2. हरियाणा (शून्‍य)
राज्य (क्षेत्रफल) 32.87 लाख वर्ग कि.मी 1. राजस्‍थान (3.42 लाख वर्ग कि.मी)
2. एम.पी. (3.08 लाख वर्ग कि.मी)
3. महाराष्‍ट्र (3.07 लाख वर्ग कि.मी)
1. गोवा (3702 वर्ग कि.मी)
2. सिक्‍किम (7096 वर्ग कि.मी)
3. त्रिपुरा (10,486 वर्ग कि.मी)
शहरीकरण 1. गोवा (62%)
2. मिजोरम (52%)
3. तमिलनाडु (48%)
1. हिमाचल प्रदेश (10%)
2. बिहार (10.29%)
3. असम (14%)
महाराष्‍ट्र में शहरों की संख्‍या अधिकतम– 18 है।
बस्‍तियां कुल आबादी का 6.5 मिलियन 1. महाराष्‍ट्र (1.1 मिलियन)
2. आंध्र प्रदेश
3. तमिलनाडु
1. अरुणाचल प्रदेश (15,000)
2. गोवा
3. सिक्‍किम
बाल लिंग अनुपात (0-6 वर्ग समूह में प्रति 1000 पुरुषों में महिलायें ) 914 1. मिजोरम(971 )
2. मेघालय (970)
3. छत्‍तीसगढ़ (964)
1. हरियाणा (830)
2. पंजाब (846)
3. जम्‍मू और कश्‍मीर (859)
· भारत में 1000 पुरुषों पर 1000 महिलायें पार करने वाला कोई भी राज्‍य नहीं है।
· 0-6 आयु वर्ग तक में बच्‍चों की संख्‍या 158.8 मिलियन है (वर्ष 2001 से -5 मिलियन)
· स्‍वतंत्रता के बाद से भारतीय स्‍तर पर बाल लिंग अनुपात (914) सबसे निम्‍नतम रहा है।
0-6 आयु वर्ग में बच्‍चों की जनसंख्‍या का समानुपात 13.10% 1. मेघालय (18.8%)
2. बिहार (17.9%)
3. जम्‍मू और कश्‍मीर (16%)
1. तमिलनाडु (9.6%)
2. गोवा (9.6%)
3. केरल (10%)
वर्तमान मूल्य पर प्रति व्यक्ति नेट राज्य घरेलू उत्पाद (2011-12) 60972 रूपये 1. गोवा (1,92,000 रुपये )
2. हरियाणा (1,09,000 रुपये)
3. तमिलनाडु (84,000 रुपये)
1. बिहार (24,000 रुपये)
2. यू.पी. (29,000 रुपये)
3. झारखण्‍ड (32,000 रुपये)
गरीबी रेखा के नीचे का जनसंख्‍या प्रतिशत (तेंदुलकर क्रियाविधि) 29.8% (2011-12) 1. बिहार
2. छत्‍तीसगढ़
3. मणिपुर
1. गोवा
2. जम्‍मू और कश्‍मीर
3. हिमाचल प्रदेश
आयु संरचना · किशोर (36.5%)
· वयस्‍क (56.7%)
· वृद्ध (6.8%)
प्रमुख भाषायें 1. हिन्‍दी (40%)
2. बंग्‍ला (8%)
3. तेलगू (7.8%)
भाषा परिवार
1. इंडो – यूरोपियन (आर्यन – 73%)
2. द्रविड़न (20%)
3. आस्‍ट्रिक (निषाद – 1.3%)
जनसंख्‍या का धर्म के अधार पर प्रतिशत धर्म संख्‍या(जनसंख्‍या प्रतिशत)
· हिन्‍दू 96.63 करोड़ (79.8 %)
· मुस्‍लिम 17.22 करोड़ (14.2%)
· ईसाई 2.78 करोड़ (2.3%)
· सिक्‍ख 2.08 करोड़ (1.7%)
· बौद्ध 0.84 करोड़ (0.7%)
· जैन 0.45 करोड़ (0.4%)
हिंदू, मुस्लिम, ईसाई, सिक्‍ख राज्य में 28, 4,2,1 की स्‍थिति से बहुमत में हैं।

अवश्य पढ़िए : आरआरबी NTPC 2019 की तैयारी कैसे करें – महत्वपूर्ण टिप्स और ट्रिक्स एंड फ्री स्टडी मटेरियल 

दोस्तों यह जानकारी विभन्न स्रोतो के द्वारा गहन अध्यन करके बनाई गई है। फिर भी अगर आपको कही कोई त्रुटि नजर आये तो आप सुधार हेतु नीचे कंमेंट या support@letsstudytogether.co पर मेल भी कर सकते है। आपको यह जानकारी कैसी लगी कॉमेंट के जरिये जरूर बताइये।


इस तरह के और क्विज़ेज एंड आर्टिकल प्राप्त करें

हमारी E-Mail सूची की सदस्यता लें और अपने ईमेल इनबॉक्स में सभी लेटेस्ट नोटिफिकेशन और अपडेट प्राप्त करें।